मान्यवर अशोक जी को शोक श्रद्धांजलि

अशोक जी का निधन एक हार्दिक विघटन
हाय अशोक जी नहीं रहे। यह जब सुना तो यही आह निकली मन से। हटात ऐसा अनुभव हुआ कि ऐसी रिक्ती से गुजर रहा हूं जिससे पार पाना मुश्किल ही नहीं असंभव है। ऐसा लगा कि हिन्दू आवाज नहीं रही। संघ के माननीय अशोक जी आज हमारे सामने हिन्दू समाज के एक ऐसे संरक्षक थे जो हर छोटी से छोटी संवेदना को भी स्वर दे रहें थे।
मैं उन्हें तब से जानता हूं जब से मेरा संबंध संघ से बना था और वे उत्तरप्रदेश (पूर्वी) के भाग प्रचारक थे। उनसे उस समय हमारा अधिकांश संबंध रहा उसके बाद बलिया आ जाने के बाद से तो संघ की गतिविधियों से ही दूर रहना पड़ा तो इसलिए उनसे संबंध नहीं बन पाया। चाहे कोई कार्यक्रम हो या शिक्षण वर्ग मुझे उनके मार्गदर्शन का लाभ मिला।
उसके बाद से जब तब हिन्दू आवाज के रूप में विशेषतः राम मंदिर के संबंध में उन्हें समाचार माध्यमों में जानने का मौका मिला।
अशोक जी मूलतः हिन्दू वादी नहीं राष्ट्रवादी व्यक्ति थे। भारत उनके रग-रग में बसा था वे जानते थे कि जिसदिन हिन्दू इस देश में अल्पसंख्या में आ जायेंगे उसी दिन यहां पुनः स्वतंत्रता देवी पराधीन हो गुलामी की जंजीर में जकड़ दी जायेंगी। इसीलिए उनका सारा जोर
हिन्दू समाज के उत्थान की तरफ रहा । उनने अन्य धर्मों को कभी त्याज्य नहीं माना परंतु उससे इतना लगाव भी नहीं रखना चाहते थे कि रा ष्ट्र पर खतरा बढ जाय।
आज हम देख रहे हैं िकइस देश में अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घटनाओं का कितना असर पड़ रहा है। और अन्य धर्मी युवा ओं में आतंकवादी संघठनांे में जाने की चाह पैदा ही नहीं हो रही है । अब तो ऐसी घटनाएं भी सुनने में आ रही हैं कि उनमें वहां से पलायन की चाह पैदा हो रही है और वे वापसी भी चाहने लगे हैं।
ऐसे में अशोक जी का जाना ऐसा है जैसे बारिश के समय आकाश का खुल जाना । इस समय देश का युवा दिग्भ्रमित है और एक ऐसा मार्गदर्शक चाहता है जो उसे लक्ष्य का पता ही नहीं बताये बल्कि लक्ष्य तक पहुचने में मदद भी करे।
अशोक जी के निधन पर मैं उनकी आत्मा की शांति के लिए और उनके परिजनों के धैर्य धारण के लिए ईश्वर से प्रार्थी हूं।
अशोक जी के छोड़े हुए कार्यो को उनके बताये रास्ते पर चलते हुए पूर्ण करने केा कमर कसना ही उनके प्रति श्रद्धांजलि है।

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s